Share this post

Share this postवाल्मीकि ने सामाजिक अन्याय के खिलाफ लड़ने को प्रोत्साहित किया : अखिलेश लखनऊ। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने

"/>

वाल्मीकि ने सामाजिक अन्याय के खिलाफ लड़ने को प्रोत्साहित किया : अखिलेश

Share this post
वाल्मीकि ने सामाजिक अन्याय के खिलाफ लड़ने को प्रोत्साहित किया : अखिलेश

लखनऊ। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि वाल्मीकि जयंती का उत्सव एक महान संत को श्रद्धांजलि है। उन्होंने अपनी सीमाओं को जीत लिया और अपनी शिक्षाओं से सामाजिक अन्याय के खिलाफ लड़ने को प्रोत्साहित किया। अखिलेश यादव ने यह बात रविवार को महर्षि वाल्मीकि जयंती समारोह में कही। सपा अध्यक्ष ने कहा कि महर्षि वाल्मीकि की महान रचना रामायण राम के जीवन पर पहला महाकाव्य है। इन्हीं के आश्रम में देवी सीता ने अपने दोनों पुत्रों लव और कुश को जन्म दिया था। जिमकार्बेट नेशनल पार्क, नैनीताल में स्थित इनके आश्रम को सीतावनी के नाम से जाना जाता है। श्री अखिलेश यादव ने कहा कि जनश्रुति के अनुसार वाल्मीकि जी का मूल नाम रत्नाकर था। जन्म के बाद इनका अपहरण भीलों ने कर लिया जिससे वे उनके गलत कामों में शरीक हो गए थे। बाद में उनके जीवन में परिवर्तन आया और वे साहित्य जगत में अमर हो गए।