Share this post

Share this postजनाधार बढ़ाने के लिए बसपा का मास्टर प्लान तैयार लखनऊ बसपा अध्यक्ष मायावती ने पार्टी पदाधिकारियों से बहुजन

"/>

जनाधार बढ़ाने के लिए बसपा का मास्टर प्लान तैयार

Share this post
जनाधार बढ़ाने के लिए बसपा का मास्टर प्लान तैयार

लखनऊ बसपा अध्यक्ष मायावती ने पार्टी पदाधिकारियों से बहुजन समाज के हाथों में सत्ता की मास्टर चाभी लाने के लिए डा. भीमराव अम्बेडकर के प्रयासों और संघर्षों के संबंध में लोगों को जागरूक करने को कहा है। उन्होंने कहा है कि इस समय दलित, आदिवासी, पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक समाज को उनकी बुनियादी और कानूनी हकों से वंचित रखने का षड़यंत्र किया जा रहा है, जो कि दुर्भाग्यपूर्ण है।

माल एवेन्यू स्थित पार्टी कार्यालय में मायावती ने समीक्षा बैठक की। इस बैठक में बसपा सुप्रीमो मायावती का जन्मदिन 15 जनवरी को ‘जनकल्याणकारी दिवस’ के रूप में मनाने का फैसला किया गया। मायावती ने पार्टी की इस आल इंडिया बैठक में (उत्तर प्रदेश को छोड़कर) संगठन की तैयारियों और सर्वसमाज के बीच पार्टी के जनाधार के संबंध में जारी कार्यक्रमों की समीक्षा की।
सर्वसमाज के बीच पार्टी की जनाधार बढ़ाने के लिए आगे क्या करना है इसके लिए निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आगे की चुनौतियों से निपटने के लिए पार्टी संगठन हर तरीके से तैयार रहे। महाराष्ट्र के ताजा राजनीतिक घटनाक्रम, झारखंड विधानसभा चुनाव और दिल्ली में होने वाले विधानसभा चुनाव पर विशेष चर्चा की।

अम्बेडकर की पुण्यतिथि पर देश भर में कार्यक्रम

मायावती ने कहा कि 6 दिसंबर को डा. भीमराव अम्बेडकर की पुण्यतिथि पर समूचे देश में संगोष्ठी आयोजित होगी। इस कार्यक्रम में बड़े पैमाने पर लोगों की भागीदारी जरूरी है।

नोटबंदी और जीएसटी से आर्थिक मंदी का खतरा

बसपा प्रमुख मायावती ने कहा कि अपरिपक्व तरीके से देश में नोटबंदी और जीएसटी थोपे जाने का दुष्परिणाम यह है कि देश को आर्थिक मंदी के खतरे का सामना करना पड़ रहा है। रोजगार चौपट है। बेरोजगारी जबर्दस्त तरीके से लोगों को परेशान कर रही है। भाजपा ने भी कांग्रेस की तरह देश की जनता व मेहनतकश लोगों को बदहाल किया है।

यूपी चीफ

राज प्रताप सिंह