जाम की समस्या से लोग परेशान

Spread the love

जाम की समस्या से लोग परेशान

संवाददाता वारिस पठान जग दर्पण

अलापुर!क्षेत्र के
नगर ककराला के मध्य मुख्य सड़क से भारी वाहनों के गुजरने और नगर के मुख्य मार्ग के संकुचित होने से कभी कभी जाम विवाद का रूप ले लेता है।ऐसे में समय और ईंधन की खपत ज्यादा होने से विकास की रफ्तार पीछे छूट रही है।
नगर के प्राथमिक विधालय संख्या 2 के पास नगर बासियों को नखासा न होने से अपने जानबर बेचने को यही एकमात्र जगह बची है दूसरा कबूतर मार्किट के चलते भी भीड़ ब्याप्त रहती है।
नगर में हो रहे मार्केटीकरण और पालिका के पास पार्किंग की जगह न होने के चलते बाजार को आये ग्रामीण व नागरिक अपने बाहन सड़क पर खड़े करने को मजबूर है।
नगर के केबीएस वलफेयर सोसायटी और विकलांग संगठन सहित कई समाजसेवियों ने नगर को बायपास सड़क देने की बकालत और मांग तेज कर दी है ।संगठनों के कार्यकर्ताओं ने कहा कि क़स्बा ककराला विकास के पथ से पीछे छूटता जा रहा है और कस्बों जैसे उझानी की भांति ककराला में भी वायपास मार्ग प्रसस्त होना चाहिए जिससे ककराला में भी विकास रफ्तार पकड़ सके।
नागरवासियों और आस पास के ग्रामीणों को जानवरों की खरीद फरोख्त को कस्बे से दूर जाना पड़ता है ऐसे में नगर को नखासा बाजार मछली बाजार और बाहन खड़ा करने को पार्किंग सहित रोडवेज स्टैंड की भी दरकार है।
कस्बे वासियों ने जिलाधिकारी महोदय से समस्या का संज्ञान लेने और मांग पूरी करने की पुरजोर गुजारिश की है। में समय और ईंधन की खपत ज्यादा होने से बिकास की रफ्तार पीछे छूट रही है।
नगर के प्राथमिक विधालय संख्या 2 के पास नगर वासियों को नखासा न होने से अपने जानबर बेचने को यही एकमात्र जगह बची है दूसरा कबूतर मार्किट के चलते भी भीड़ व्यापत रहती है।
नगर में हो रहे मार्केटीकरण और पालिका के पास पार्किंग की जगह न होने के चलते बाजार को आये ग्रामीण व नागरिक अपने बाहन सड़क पर खड़े करने को मजबूर है।
नगर के केबीएस वेलफेयर सोसायटी और विकलांग संगठन सहित कई समाजसेवियों ने नगर को बायपास सड़क देने की बकालत और मांग तेज कर दी है ।संगठनों के कार्यकर्ताओं ने कहा कि क़स्बा ककराला बिकास के पथ से पीछे छूटता जा रहा है और कस्बों जैसे उझानी की भांति ककराला में भी वायपास मार्ग प्रसस्त होना चाहिए जिससे ककराला में भी विकास रफ्तार पकड़ सके।
नागरवासियों और आस पास के ग्रामीणों को जानवरों की खरीद फरोख्त को कस्बे से दूर जाना पड़ता है ऐसे में नगर को नखासा बाजार मछली बाजार और बाहन खड़ा करने को पार्किंग सहित रोडबेज स्टैंड की भी दरकार है।
कस्बे बासियों ने जिलाधिकारी महोदय से समस्या का संज्ञान लेने और मांग पूरी करने की पुरजोर गुजारिश की है।नगर ककराला के मध्य मुख्य सड़क से भारी बाहनों के गुजरने से आम राहगीरों को जाम की समस्या से दो चारv होना पड़ रहा है।नगर के मुख्य मार्ग के संकुचित होने से कभी कभी जाम विवाद का रूप ले लेता है।ऐसे में समय और ईंधन की खपत ज्यादा होने से बिकास की रफ्तार पीछे छूट रही है।
नगर के प्राथमिक विधालय संख्या 2 के पास नगर वासियों को नखासा न होने से अपने जानबर बेचने को यही एकमात्र जगह बची है दूसरा कबूतर मार्किट के चलते भी भीड़ ब्याप्त रहती है।
नगर में हो रहे मार्केटीकरण और पालिका के पास पार्किंग की जगह न होने के चलते बाजार को आये ग्रामीण व नागरिक अपने बाहन सड़क पर खड़े करने को मजबूर है।
नगर के केबीएस बेलफेयर सोसायटी और विकलांग संगठन सहित कई समाजसेवियों ने नगर को बायपास सड़क देने की बकालत और मांग तेज कर दी है ।संगठनों के कार्यकर्ताओं ने कहा कि क़स्बा ककराला बिकास के पथ से पीछे छूटता जा रहा है और कस्बों जैसे उझानी की भांति ककराला में भी बायपास मार्ग प्रसस्त होना चाहिए जिससे ककराला में भी बिकास रफ्तार पकड़ सके।
नागरवासियों और आस पास के ग्रामीणों को जानबरों की खरीद फरोख्त को कस्बे से दूर जाना पड़ता है ऐसे में नगर को नखासा बाजार मछली बाजार और बाहन खड़ा करने को पार्किंग सहित रोडबेज स्टैंड की भी दरकार है।
कस्बे बासियों ने जिलाधिकारी महोदय से समस्या का संज्ञान लेने और मांग पूरी करने की पुरजोर गुजारिश की है।