Share this post

Share this postबदायूँ। टिथोनस इंटरनेशनल स्कूल में आयोजित कॉफी टिथोनस में जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त ने बच्चों के साथ अपने जीवन

"/>

टिथोनस में डीएम ने बच्चों को दिए सफलता के सूत्र

Share this post

बदायूँ। टिथोनस इंटरनेशनल स्कूल में आयोजित कॉफी टिथोनस में जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त ने बच्चों के साथ अपने जीवन के संघर्षों व सफलता के सुनहरे पलों को साझा करते हुए उन्हें अपने निजी जीवन के बारे में भी विस्तार से बताया।
शनिवार को कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलन द्वारा किया। विद्यालय की छात्राओं ने अतिथि के समक्ष स्वागत नृत्य प्रस्तुत किया तथा विद्यालय के आदर्शों व लक्ष्यों का इंगित करने वाले स्कूल एंथम की प्रस्तुति भी दी। अपने संबोधन में जिलाधिकारी ने कहा कि सफलता का पर्याय सभी बच्चों के लिए एक सा नहीं होता। सभी की क्षमताएं और अभिरुचियां भिन्न होती हैं और उसी के अनुसार उन्हें अपना क्षेत्र निर्धारण करते हुए उसमें श्रेष्ठतम करना चाहिए जो कि समाज व देश के लिए उपयोगी हो। खेल, कृषि, संगीत, शिक्षा, स्वास्थ्य एवं अन्य क्षेत्रों में भी सामाजिक उत्थान के लिए निजी तौर पर कार्य करते हुए भी आप सफलता के प्रतिमान गढ़ सकते हैं।
इस अवसर पर प्रधानाचार्य डॉ0 श्यामेश ने कहा कि प्रारंभिक छात्र जीवन में विद्यार्थियों को अपने उद्देश्यों और अभिरुचियों के विषय में अधिक ज्ञान न होने के कारण विभिन्न प्रेरणा श्रोत ही उनके जीवन के दिशा निर्धारण में मुख्य भूमिका निभाते हैं जिस प्रकार चंद्रगुप्त मौर्य को उनके दिशा-निर्देशक व गुरु आचार्य कौटिल्य ने एक साधारण ग्रामीण बालक से महान सम्राट बना दिया लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक से एक मुलाकात ने करमचंद गांधी को राष्ट्रपिता बना दिया।
विद्यालय के प्रबंध निदेशक शरद बंसल ने बताया कि

विद्यालय द्वारा आयोजित कॉफी टी०आई० एस० में समाज के विभिन्न वर्गों के प्रतिष्ठित व्यक्तियों को बुलाकर बच्चों के साथ उनके अनुभव साझा किए जाते हैं ताकि सभी विद्यार्थी जीवन की समस्याओं और संघर्षों को जाने तथा उन पर विजय प्राप्त करने की क्षमता विकसित करें।
मंच संचालन जिल्फा कादरी, जिज्ञा माहेश्वरी, निक्श शरद अग्रवाल व शिवांगी वाष्र्णेय द्वारा किया गया। कार्यक्रम को सफल बनाने में मुख्य भूमिका शालिनी अरोड़ा, कुलदीप साहू, मनजीत खन्ना, नकी अहमद, मनाली राठौर, अतुल वाष्र्णेय व विपिन सक्सेना का रहा।