किसानों के भारत बंद के मद्देनजर प्रशासन रहा अलर्ट, किसानो ने सरकार विरोधी नारों के बीच सौंपा ज्ञापन

Share this post

Hits: 7

*किसानों के भारत बंद के मद्देनजर प्रशासन रहा अलर्ट, किसानो ने सरकार विरोधी नारों के बीच सौंपा ज्ञापन*

 

बदायूं(दातागंज)!भारत बंद को लेकर किसान यूनियन के नेताओ ने किसानों के साथ दातागंज तहसील परिसर में पहुँचकर उपजिलाधिकारी दातागंज पारस नाथ मौर्य को ज्ञापन सौंपा। वही बता दे कि प्रशासन की ओर से भारत बंद के दौरान किसी भी तरह की अराजकता को बदर्शत नहीं करने की सख्त

हिदायत भी दी गई थी। किसानो के नेता बृज किशोर यादव ने कहा कि भारत बंद को सफल बनाने के लिए सभी किसान एकसाथ हैं। भाजपा सरकार किसान विरोधी है जो केवल अपने पूंजीपती मित्रों के खातिर किसानों की अनदेखी कर रही हैजो निंदनीय है, उन्होंने कहा कि अब तक 700 से अधिक किसान

दिल्ली व गाजीपुर बॉर्डर पर शहीद हो चुके है। 700 किसानों की हत्यारी है भाजपा सरकार वक्ताओं ने कहा सरकार किसानों की ओर ध्यान नहीं दे रही है।। उन्होंने चेतावनी दी कि किसान आगामी चुनाव में वोट की चोट से सरकार को जवाब देंगे।संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा घोषणा की गई थी कि 27 मार्च को भारत बंद कर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। कहा कि यह लड़ाई

केवल किसान की नहीं है बल्कि हर आम आदमी की लड़ाई है। इस लड़ाई में केवल किसान का हित नहीं है बल्कि देश में रहने वाले प्रत्येक नागरिक का हित है। उनका कहना था कि यदि इन कानूनों को सरकार वापस नहीं लेती तो आने वाला समय बहुत ही भयावह होगा जिसमें आम आदमी के साथ-साथ दुकानदार भी प्रभावित होंगे।वही भारतीय किसान मजदूर संयुक्त यूनियन

की तरह से प्रधानमंत्री भारत सरकार को ज्ञापन दिया है जिसके किसान विरोधी तीनो काले कानून वापस लिए जाए, एम.एस .पी पर गारंटी बनाया जाये , डीजल व पेट्रोल के लगातार बढ़ते जा रहे दामों को कम किय जाये , सम्पूर्ण देश के किसानों का कर्ज माफ किया जाये , किसानों का बकाया गन्ने का भुगतान जल्द से जल्द कराया जाये, बिजली कटौती को रोका जाये व

किसानों के बिजली के बिलों को आधा माफ किया जाये, तो वही भारतीय किसान यूनियन ( भारत का किसान संगठन ) दातागंज कि ओर से महामहिम राष्ट्रपति भारत सरकार के नाम ज्ञापन में किसान विरोधी तीनो काले कानून वापस लिए जाए, किसानों की फसल पर एम.एस.पी लागू का कानून बनाया जाय , स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू किया जाये , बिजली के बड़े

हुए मूल्यों को तत्काल खत्म किया जाये , गोवंश व जंगली जनवरों से हो रहे किसानों के नुकसान की भरपाई की जाये य गोवंश व जंगली जनवरों से फसलों की रक्षा की जाये , दोनों संगठनों ने उपजिलाधिकारी दातागंज को ज्ञापन सौपते हुए उपजिलाधिकारी दातागंज व सी० ओ० दातागंज के आश्वासन पर सभी किसानों ने धरना प्रदर्शन खत्म किया। वही

उपजिलाधिकारी पारस नाथ मौर्य ने कहा कि आप के ज्ञापनों को भेज दिया जाएगा साथ ही मैं कहना चाहूंगा कि अपने क्षेत्र में एक बहुत बड़ी गौशाला बन रही है जिसकी जमीन चयनित हो गई है काम चल रहा है जल्दी उसको तैयार कर गायों के लिए स्थान दिया जाएगा , कृषि कानून के खिलाफ किसानों के भारत बंद काे लेकर उपजिलाधिकारी पारस नाथ मौर्य , सी०

ओ० प्रेम कुमार थापा के नेतृत्व में प्रशासन पुलिस-प्रशासन अलर्ट मोड पर रहा , दातागंज प्रभारी निरीक्षक वीरपाल सिंह तोमर भारी संख्या में पुलिस बल के साथ जमे रहे।किसान शांतिपूर्वक अपना आंदोलन करते रहे।

error: Content is protected !!