सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर एंटी रैबीज वैक्सीन का टोटा, निजी क्लीनिक पर खर्च करने पड़ रहे 400 रुपये

Share this post

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर एंटी रैबीज वैक्सीन का टोटा, निजी क्लीनिक पर खर्च करने पड़ रहे 400 रुपये

 

बिसौली।सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में जानवर काटे के इलाज में लगने वाली एंटी रैबीज वैक्सीन खत्म हुए काफ़ी समय बीत गया,लेकिन अभी तक इंजेक्शन नहीं आया है।ऐसे में यहां आने वाले मरीजों को निजी मेडिकल स्टोर से इंजेक्शन खरीदकर लगवाना पड़ रहा है।अस्पताल में एंटी रैबीज लगवाने वाले के लिए इन दिनों अधिक संख्या में मरीज आ रहे हैं।इनमें कुत्ता और बंदर काटने के हैं। बताया जा रहा है कि मार्च से यहां एंटी रैबीज इंजेक्शन खत्म हो गए हैं। ऐसे में मरीज यहां से लौट रहे हैं। निजी क्लीनिक पर 400 रुपये खर्च करके इंजेक्शन लगवाना पड़ रहा है। बिसौली तहसील के ग्राम दूगों के निवासी शाकिर खाँ पुत्र सूबेदार खाँ ने बताया कि उनकी बेटी साफिया के बंदर ने काँट लिया था दस दिन से वह जिले से लेकर तहसील के सभी सरकारी सरकारी हॉस्पिटल में पता कर लिया लेकिन अभी तक उन्हें एंटी रैबीज इंजेक्शन नहीं मिला। फिर वह मजबूरन उन्होंने प्राइवेट क्लीनिक पर 400 रुपये की लगवाना पड़ी है। उन्होंने यह भी बताया जहां भी वह जा रहे हैं हर सरकारी हॉस्पिटल में उन्हें यही बताया जा रहा कि दो-तीन माह से यहां एंटी रैबीज वैक्सीन खत्म हो गई हैं जब भी शासन की तरफ से आएंगी जरूर लगाई जाएगी।